Latest News
नूंह , 08 जून: उपायुक्त मनीराम शर्मा की अध्यक्षता में लघु सचिवालय के सभागार में सोशल इकनोमी सर्वे को लेकर प्रगणकों को प्रशिक्षण को लेकर एक बैठक आयोजित की गई।

नूंह , 08 जून: उपायुक्त मनीराम शर्मा की अध्यक्षता में लघु सचिवालय के सभागार में सोशल इकनोमी सर्वे को लेकर प्रगणकों को प्रशिक्षण को लेकर एक बैठक आयोजित की गई। इसका संचालन जिला सूचना एवं प्रौद्योगिकी अधिकारी नदीम अख्तर ने किया।

उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार की ओर से 15 जून से जिले में जन सेवा सर्वे शुरू होने जा रहा है। इस सर्वे में घर-घर जाकर प्रगणक सोशल इकनोमी सर्वे करेंगे। इस सर्वे के लिए जिले को 1915 खण्डों में विभाजित किया गया है। इसके लिए करीब 700 से 750 कर्मचारी लगाए जाएंगे। सरकार यह सर्वे इसलिए करा रही है ताकि प्रत्येक व्यक्ति तक सरकारी योजनाओं का लाभ पंहुच सके।

नदीम अख्तर ने कहा कि प्रत्येक प्रगणक हर व्यक्ति के बारे में घर-घर जाकर जानकारी लेगा जिससे यह जानकारी ऑनलाईन सरकार को डाली जाएगी। इसके लिए प्रगणक को एक टैब भी सरकार की ओर से उपलब्ध करवाया जाएगा। इस सर्वे में परिवार के मुखिया से पूरे परिवार और प्रत्येक व्यक्ति की जानकारी ली जाएगी। प्रत्येक प्रगणक उस घर का फोटो और लोकेशन टैब में फीड कर देगा और मौके पर ही सभी सदस्यों के उंगली के निशान भी लिए जाएंगे। करीब 100 पैरामीटर का फार्म घर-घर जाकर भरा जाएगा। उन्होंने प्रशिक्षण में उपस्थित सभी प्रगणकों से कहा कि वे सारी जानकारी इक्ठी कर डालें और कोई भी जानकारी अधूरी ना छोड़े।

डीआईओ नदीम अख्तर ने कहा कि यह सर्वे पहले चरण में ग्रामीण स्तर पर होगा। मौके पर ही आधार और खाता नंबर भी नागरिकों को उपलब्ध कराने होंगे। यदि उक्त दोनों नही हैं तो अगले दिन आधार कार्ड बनाने और बैंक खाता खोलने के लिए कर्मचारी घर के मुखिया से संपर्क कर निर्धारित व्यक्ति का खाता खोलेंगे और उसका आधार कार्ड भी बनाकर जाएंगे। उन्होंने बताया कि यह सर्वे पूरा का पूरा टैबलेट बायोमैट्रिक डिवाईस और आधार कार्ड पर आधारित होगा। उन्होंने बताया कि मंगलवार को नूंह व तावडू़ के लोगों को प्रशिक्षण दिया गया तथा बुधवार को फिरोजपुर-झिरका, पुन्हाना, नगीना के लोगों को सोशल इकनोमी सर्वे को लेकर प्रगणकों को प्रशिक्षण दिया गया।