Latest News
नूंंह 19 जून:नई अनाज मंडी नंूह में अन्र्तराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून के उपलक्ष्य पायलेट रिर्हसल का आयोजन किया गया।

नूंंह 19 जून : नई अनाज मंडी नंूह में अन्र्तराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून के उपलक्ष्य पायलेट रिर्हसल का आयोजन किया गया। यह प्रशिक्षण श्री नरेन्द्र पटेल, जिला प्रभारी पंतजलि, श्री सजंय, श्री कुलदीप, श्री किशोर द्वारा दिया गया। आज के इस प्रशिक्षण में उपायुक्त मनीराम शर्मा, द्वारा दीप प्रज्जपलन किया गया व उप मण्डल अधिकारी ना. नंूह डा. मनोज कुमार, नगराधीश प्रदीप अहलावत व तहसीलदार, बस्तीराम व अन्य प्रशासनिक अधिकारियों व आयुष विभाग से सभी चिकित्सकों व स्टाफ के सदस्यों ने हिस्सा लिया। आज के इस कार्यक्रम में लगभग 1400 स्कूली बच्चों व 400 व्यक्तियों ने भाग लिया।

उपायुक्त मनीराम शर्मा ने कहा कि योग तनाव से मुक्तिदिलाने का उचित माध्यम है। योग को जीवन का अहम हिस्सा बनाएं तथा खुशहाल, स्वस्थ एवं समृद्ध राष्ट्र के निर्माण में भागीदार बनें। हम सबकी जिम्मेवारी है कि इस योग को भावी पीढ़ी तक लेकर जाएं। सरकार द्वारा योग को अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक पहुंचाने के लिए किए गए सार्थक प्रयासों के तहत ही 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। जिला मेवात में इस कार्यक्रम को मेवात मॉडल स्कूल में जोर-शोर से मनाया जा रहा है तथा काफी संख्या में लोग इसमें भागीदार बनेंगे। उन्होंने कहा कि योग को सभी लोग अपनी जीवनशैली में शामिल करे प्रतिदिन योग का अभ्यास करें। इससे अनेक प्रकार के विकार दूर होंगे। योग से प्रतिदिन थोड़े समय में ही अधिक फायदा होगा। योग से न केवल मानसिक, बल्कि शारीरिक रूप से भी स्वस्थ रहा जा सकता है। योग की क्रियाएं बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक आसानी से कर सकते हैं। बच्चों को योग का फायदा न केवल पढ़ाई, बल्कि उनके खेल में भी उन्हें लाभ मिलेगा। योग हमारी प्राचीन संस्कृति का अहम हिस्सा रहा है तथा ऋषि मुनियों ने विभिन्न योगासनों एवं प्राणायामों से होने वाले लाभ को रेखांकित करते हुए आम जनमानस को इसे अपनाने के लिए प्रेरित किया है।

उपायुक्त ने बताया कि योग एक प्राचीन भारतीय पद्धति है। योग अपनाकर मनुष्य अपने जीवन और शरीर को उर्जावान बनाए रख सकता है। योग ने केवल शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है बल्कि कार्य क्षमता में भी वृद्धि करता है। उन्होंने कहा कि केवल देश, बल्कि विश्व के 177 देशों में योग की गूंज पहुंची है तथा 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर इन देशों में योग समारोह आयोजित किए जाएंगे। योग से जीवन में एक विशेष प्रकार के सुकून का अहसास होता है। योग से जीवन न केवल अनुशासित बनता है, बल्कि साधक की मानसिकता भी सकारात्मक होती है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा समारोह को सफलतापूर्वक संपन्न करवाने के उद्देश्य से सभी आवश्यक प्रबंध किए हैं। उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे 21 जून को होने वाले समारोह की सभी तैयारियां पूर्ण करना सुनिश्चित करें, ताकि प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार जिला स्तरीय समारोह का आयोजन सही ढंग से किया जा सके।

आज उपमडल स्तर पर शान्ति सागर जैन कन्या महाविद्यालय, फि रोजपुर झिरका व राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय पुन्हाना में अन्र्तराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून के उपलक्ष्य पायलेट रिर्हसल का आयोजन किया गया। यह प्रशिक्षण श्री धर्मपाल आर्य योगा प्रशिक्षक पंतजलि, व आयुष विभाग से डा0 आदित्य गौड द्वारा दिया गया। इस रिर्हसल में उपमण्डल अधिकारी अनीष यादव, खंड शिक्षा अधिकारी शुगर सिंह व भाजपा कार्यकारणी से यतेन्द्र गर्ग, आयुष विभाग के चिकित्सकों व कर्मचारियों, जनसाधारण, स्कूली बच्चों सहित लगभग 350 लागों ने भाग लिया। उपमंडल पुन्हाना यह प्रशिक्षण राजकुमार व सुन्दर योग प्रशिक्षक, पंतजलि द्वारा दिया गया। इस रिर्हसल में खंड शिक्षा अधिकारी अबुल हुसैन आयुष विभाग के चिकित्सकों व कर्मचारियों, जनसाधारण, स्कूली बच्चों सहित लगभग 51 लागों ने भाग लिया।

पतंजलि योग पीठ के जिला प्रभारी नरेंद्र पटेल ने अंतिम पूर्वाभ्यास में की शुरुआत ओउ्म के जाप से की। उन्होंने गर्दन के व्यायाम, कटिचालन, घुटना संचालन, ताड़ आसन, वृक्ष आसन, पादहस्त आसन, अर्ध चक्कर, त्रिकोण, भद्रासन, वज्र आसन, अर्ध उष्टासन, वक्रासन, भुजंगासन, सलभासन, सेतू बंधासन, पवन मुक्तासन, स्वासन तथा प्राणायम में कपालभाती, अनुलोम विलोम, भ्रामरी और ध्यान का अभ्यास करवाए। इस अवसर पर नगराधीश प्रदीप अहलावत,तहसीलदार बस्तीराम, आयूष विभाग से डा. शंशक, डा. मनोज, सहित सभी विभागों के अधिकारी व पतंजलि योग पीठ से नरेंद्र पटेल, ज्ञानचंद आर्य, संजय, कुलदीप, व पतंजलि योग पीठ से अन्य पदाधिकारी व अन्य साधक उपस्थित थे।

फोटो कैप्शन : नगराधीश प्रदीप अहलावत के अंतिमस्र पूर्वाभ्यास के मौके पर जिला परिषद की अध्यक्षा अनीसा बानो को बुका भेेट कर स्वागत करते हुए तथा पूर्वाभ्यास की शुुरुआत करते हुए योग साधक स्कूली विद्यार्थी, अधिकारी व कर्मचारी तथा अन्य साधक योग करते हुए।