Latest News
नूंह, 15 जून:- मेवात विकास अभिकरण, नूंह के चैयरमैन, खुर्शीद राजाका ने डेयरी विकास से संबंधित अधिकारियों के साथ एक बैठक की

नूंह, 15 जून:- मेवात विकास अभिकरण, नूंह के चैयरमैन, खुर्शीद राजाका ने डेयरी विकास से संबंधित अधिकारियों के साथ एक बैठक की जिसमें दुधारू पशुओं के रख-रखाव, स्वास्थ्य एवं दूध उत्पादन क्षमता बढाने व दूध का उचित मूल्य पशुपालकों को दिलवाने बारे विचार-विमर्श हुआ।

इस बैठक में उप निदेशक पशुपालन एवं डेयरी विभाग नरेन्द्र कुमार, खानपुर- घाटी एवं सुनिल बहल, ब्रिक एण्ड ब्रेन, दिल्ली निदेशक, तथा एमडीए द्वारा संचालित स्वयं सहायता समूह फेडरेशनों के खण्ड संयोजक मुख्यरूप से उपस्थित रहे। पशुपालन एवं डेरिंग विभाग के उप निदेशक नरेन्द्र कुमार ने बताया कि क्षेत्र में पानी व हरे चारे की बहुत कमी है जिस कारण दुधारू पशुओं से दूध का उत्पादन कम प्राप्त हो रहा है न ही पशु स्वस्थ्य रह पा रहे। जिस कारण पशुओं में प्रजन्न शक्ति कम हो रही है परिणाम स्वरूप मेवात के ज्यादातर किसानों को अपने दुधारू पशु बहुत कम दामों में बेचना पड जाता है। उन्होने आगे बताया कि मेवात जैसे सूखाग्रस्त क्षेत्र में हरा चारा अचार की तहर सुरक्षित रखकर गर्मी में पशुओं को उपलब्ध करवाया जा सकता है जिससे पशुओं में गर्मी के दिनों में भी दूध उत्पादन पर फ र्क नही पडेगा।

ब्रिक एण्ड ब्रेन, स्किल डेवलपमेन्ट संस्था, दिल्ली के निदेशक सुनिल बहल ने बताया कि जिले में पी.एम.के.वाई. भारत सरकार की परियोजना के अन्तर्गत एमडीए के सहयोग से शुरूआत में 10 हजार पशुपालकों को पशुओं के रख-रखाव, स्वास्थ्य एवं दूध उत्पादन क्षमता बढाने के लिए स्किल डेवलपमैन्ट प्रशिक्षण कैंप लगवाये जायेगें ताकि क्षेत्र के पशुपालक कम खर्च में ज्यादा दूध उत्पादन प्राप्त कर डेयरी के माध्यम से स्वावलम्बी बन सके। प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षणार्थियों को 500 रूपये उनके बैंक खातों में भेज दिये जायेगे आवेदक का बैंक खाता आधार बेसड होना चाहिए तथा प्रेकटिकल के बाद परीक्षा लेकर एक सर्टिफि केट संस्था द्वारा दिया जायेगा। हरियाणा वीटा डेयरी (मिल्क चिलिंग सेन्टर, नूंह इंचार्ज ने बताया कि सेन्टर के अन्तर्गत 61 दुग्ध सहकारी समितयो से 5 हजार 657 लीटर दूध प्रतिदिन प्राप्त हो रहा है इसी तरह खानपुरघाटी सेन्टर के क्षेत्र में 49 समितियों के माध्यम से 3 हजार 500 लीटर दूध प्राप्त हो रहा है जिसमें लगभग 80प्रतिशत गाय का दूध होता है। जिसको डेयरी विभाग 62 रुपए प्रति लीटर खरीद रहा है। यदि दूध में 100 प्रतिशत फेट निकलता है।

अध्यक्ष, एमडीए ने उपस्थित सभी अधिकारियों, कर्मचारियों को निर्देश दिये कि प्रदेश सरकार द्वारा जनहित में चलायी जा रही सभी योजनाओं को गाईड लाईन अनुसार लागु करें ताकि जनता को कम समय में अधिक लाभ प्राप्त हो सके। इसके साथ उन्होने यह भी अवगत कराया कि सरकार गोसंवर्धन पर काफ ी अनुदान दे रही तथा दुधारू पशुओं का बीमा सस्ती दरों पर करवाने की स्कीम है। जिस हेतु संबंधित जिला अधिकारी अपने विभागीय होर्डिंग लगवाकर जनता को जागरूक करने का प्रयास करें ताकि जनता सरकार की कल्याणकारी, लाभप्रद योजनाओं को अधिक लाभ प्राप्त कर सके।