Latest News
नगराधीश प्रदीप अहलावत डिपों होल्डरों को दिशा-निर्देश देते हुए। नगराधीश प्रदीप अहलावत डिपों होल्डरों को दिशा-निर्देश देते हुए।
नूंह 20 फरवरी:- नगराधीश प्रदीप अहलावत की अध्यक्षता में आज सोमवार को लघु सचिवालय के सभागार में डिपों होल्डरों की स्वच्छ भारत मिशन को लेकर एक बैठक आयोजित की गई।

नगराधीश प्रदीप अहलावत की अध्यक्षता में आज सोमवार को लघु सचिवालय के सभागार में डिपों होल्डरों की स्वच्छ भारत मिशन को लेकर एक बैठक आयोजित की गई। जिसमें उन्होंने उपस्थित जिले के सभी डिपो होल्डरों को निर्देश दिए कि वे अपने गांव को खुले में शौच मुक्त बनाने में जिला प्रशासन का सहयोग करें।

नगराधीश ने बताया कि नोट बंदी के दौरान नूंह जिला में काफी संख्या में लोगों ने अपने घरों में शौचालय बनवाए तथा इस अभियान के प्रति लोगों ने रुची दिखाई। उन्होंने डिपों होल्डरों को निर्देश दिए कि अगर उनके गांव में कोई भी व्यक्ति खुले में शौच जाता है तो उसका राशन बंद कर दिया जाए। उन्होने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा एक मोहर बनवाई गई है और जो लोग खुले में शौच जाते हुए पाए जाते है उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही करने व उनका राशन बंद करने के सख्त निर्देश जारी किए गए है। नगराधीश ने बताया कि हर एक पंचायत में एक प्रशासनिक अधिकारी द्वारा गोद लिया हुआ है। इसलिए उन्होंने सभी निगरानी कमेटी के सदस्यों के साथ मिलकर खुले में शौच के कलंक को जड़ से खत्म करने में प्रशासन का सहयोग देने का आह्वान किया। ताकि मेवात क्षेत्र पूरी तरह खुले में शौचमुक्त हो सके। इसलिए आप सभी अपने घरों में शौचालय बनवाए और अन्य लोगों को भी खुले में शौच के प्रति जागरुक करें। उन्होंने बताया कि सरकार ने 31 मार्च 2017 तक का मेवात को पूरी तरह खुले में शौचमुक्त का समय दिया है। उन्होंने कहा कि जो डिपों होल्डर अच्छा काम करेगा उसको 15 अगस्त स्वंतत्र दिवस के मौके पर सम्मानित भी करवाया जाएगा। जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियंत्रक राम अवतार ने सभी डिपों होल्डरों को निर्देश दिए कि वे गांव में बनी निगरानी कमेटी का सहयोग करें। उन्होंने कहा कि आप सभी इस मुहिम में जिला प्रशासन का बडचढ़ कर सहयोग करें। उन्होंने सभी डिपों होल्डरों को निर्देश दिए कि वे ख्ुाले में शौच जाने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करें।